All Study Material

UPTET 2018 Exam Pattern UPTET Question Answer

UPTET 2018 Exam Pattern sarkaripdf
Written by admin

UPTET 2018 Exam Pattern Question Answer : – Hello Aspirant, आज हम आपके प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे students के लिए UPTET Previous Paper PDF in Hindi को PDF में लेकर आए है| UPTET 2018 Exam Pattern and All Paper DetailQuestion Answer में आपको UPTET Syllabus के बारे में पढ़ने को मिलेगा जिनकी help से आप UPTET में पूछे जाने वाले सवालों को बहुत ही कम समय में हल कर पाएगे, और आपको परीक्षा का स्तर भी पता चलेगा UPTET परीक्षाओं की तैयारी करने के लिए UPTET Previous Paper PDF in Hindi ही Important हैं इस बुक को नीचे दिए हुए बटन पर क्लिक करके Download कर सकते है|

UPTET 2018 Exam Pattern in Detail

UPTET 2018 will comprise 2 papers. Each paper has 5 sections of different subjects. There are altogether 150 questions of multiple choice type, carrying 1 mark each and there is no negative marking for wrong questions.

UPTET Exam Mode Offline (Pen and Paper)
UPTET 2018 Exam Date October 28, 2018
UPTET Question Type Multiple Choice Questions
Total Questions 150
Total Marks 150
Minimum Qualifying Marks 90
Total Papers Paper 1, Paper 2
Paper 1 For Teachers of class 1 to class 5
Paper 2 For Teachers of class 6 to class 8
Paper 1 Subjects Language 1, Language 2, Child development and Pedagogy, Mathematics, Environmental
Paper 2 Subjects Language 1, Language 2, Child development and Pedagogy, Mathematics, Science/SST
Negative Marking No
Maximum Time Limit 2 and ½ hours
Language Both Hindi and English

UPTET 2018-19 Marking scheme

UPTET 2018 Paper 1 comprises 5 sections of 30 marks each, while Paper 2 consists of 150 questions each carrying 1 mark.

  • Total marks distribution for paper 1 is 150.
  •  Each question will score 1 mark and there is no negative marks for incorrect answers.
  • There is no negative marking.
  • 3 sections in the paper 2 comprise 30 questions each and 1 section will have 60 questions.

UPTET Syllabus – Paper 1

Syllabus for Paper 1 for the recruitment of lower primary school teachers is given below:

UPTET Syllabus for Child Development and Pedagogy

Child Development and Pedagogy
Unit Topic
Unit 1 Child Development: Concept of growth and development, Principles & dimensions of development, Factors affecting development  & its relationship with learning, Role of Heredity & environment
Unit 2 Meaning and Concept of learning & its processes, Factors Affecting learning, Theories of learning & its implication, How Children learn & think, Motivation & Implications for Learning
Unit 3 Individual Differences: Meaning, types & factors Affecting Individual differences, Understanding individual differences on the basis of language, gender, community, caste & religion.

Personality: Concept & types of personality, Factors responsible for shaping it, Its measurement Intelligence: Concept, Theories & its measurement, Multidimensional Intelligence

Unit 4 Understanding diverse learners: Backward, Mentally retarded, gifted, creative, disadvantaged & deprived, specially abled.

Learning Difficulties Adjustment: Concept & ways of adjustment, Role of teacher in the adjustment

Unit 5 Teaching learning process, Teaching learning strategies & methods in the context of National Curriculum Framework 2005 Meaning and purposes of Assessment,

Measurement & Evaluation, Comprehensive & Continuous Evaluation, Constriction of Achievement Test Action Research Right to Education Act 2009 (Role and Responsibilities of Teachers)

UPTET Syllabus for English

English
Unit1 Unseen Prose Passage. Synonyms, Antonyms, Spelling, Word-formation, One Word Substitution
Unit 2 Unseen Prose Passage Part of Speech Tenses Determiners Change of Degrees
Unit 3 Framing Question including Wh-questions Active and Passive Voice Knowledge of English sounds and Phonetic Symbols
Unit 4 Principles of Teaching English Methods and Approaches to English Language Teaching
Unit 5 Development of Language Skills Teaching Learning Materials: Textbooks, Multi- Media Materials and other resources
Unit 6 Comprehensive & Continuous Evaluation Evaluation Language Proficiency English Preparation Tips

UPTET Syllabus for Hindi, Urdu, Sanskrit

Hindi, Urdu and Sanskrit
Units Syllabus
 – Reading unseen passages, verbal ability, grammar, inference acquisition and learning, listening role & speaking, principles of language teaching.

Critical aspect of grammar, teaching challenges in classroom, remedial teaching, to evaluate proficiency in language comprehension

Material of teaching-learning, language Skills etc.

UPTET Syllabus for Mathematics

Mathematics
Unit 1 Indices Algebraic Expressions Factors Equations Square Roots Cube Roots
Unit 2 Interest Ratio and Proportion Percentage
Unit 3 Lines and Angles Plane Figures Area of Place Figures Surface Area and Volume
Unit 4 Statistics Graph
Unit 5 Nature of Mathematics Place of Mathematics Language of Mathematics Community of Mathematics
Unit 6 Evaluation Remedial Teaching Problem of Teaching

UPTET Syllabus for Environmental Studies

Environmental Studies
Unit 1 Family Personal relationships- nuclear and joint families

Social abuses (child marriage, dowry system, child labor, theft)

Addiction (intoxication, smoking) and its personal, social and economic bad effects.

Clothes and Habitats – Clothes for different seasons; maintenance of clothes at home; handloom and power loom

Habitats of living beings, various types of houses; cleanliness of houses & neighboring areas; Different types of materials for building houses.

Unit 2 Profession – Profession of your surroundings (stitching clothes, gardening, farming, animal rearing, vegetable vendor etc.)

Small & cottage industries; major industries of Rajasthan State,

Need for consumer protection, co-operative societies.

Public places & Institutions – Public places like school, hospital, post office, bus stand, railway station; Public property (street light, road, bus, train, public buildings etc.)

Wastage of electricity and water; employment policies; general information about Panchayat, legislative assembly & parliament.

Our Culture & Civilization – Fairs & festivals, National festivals; Dresses, food-habits & art and craft of Rajasthan; Tourist places of Rajasthan; Great personalities of Rajasthan.

Unit 3 Transport & Communication – Means of transport & communication; Rules for pedestrians & transport; Effects of means of communication on the life style.

Personal Hygiene – External parts of our body & their cleanliness; general information about the internal parts of the body; Balance diet and its importance;

Common diseases (gastroenteritis, amoebiosis, methemoglobin, anemia, fluorosis, malaria, dengue.) their causes and methods of prevention;

Pulse Polio campaign. Living Beings: Levels of organisation of plants and animals, diversity of living organisms, state flower, state tree, state bird, state animal;

Knowledge of reserve forest andwildlifee (national parks, sanctuaries, tiger reserve, world heritage), conservation of species of plants & animals, knowledge of Kharif & Rabi crops.

Unit 4 Matter & Energy – Common properties of substances (colour, state, ductility, solubility) various types of fuels

Types of energy & transformation of one form into another; Applications of energy in daily life, sources of light, common properties of light.

Basic knowledge of air, water, forest, wetlands & deserts; different kind of pollution, renewable & non-renewable resources of energy in Rajasthan & concept of their conservation

Weather & climate; water cycle.

Unit 5 Concept & scope of Environment Studies. Significance of Environment Studies,

Integrated Environment Studies

Environmental Studies & Environmental Education learning Principles.

Scope & relation to Science & Social Science. Approaches of presenting concepts Activities

Unit 6 Experimentation/Practical Work Discussion. Comprehensive and Continuous Evaluation.

Teaching material/Aids. Problems of Teaching

Best Books for UPTET Paper 1

Book Author Publisher ISBN
UPTET (Uttar Pradesh Teachers’ Eligibility Test) Paper I Class 1-5 (according to UP Board syllabus) RP Singh Unique Publishers Books 31.19
UP TET Teacher’s Eligibility Test Paper-I&II Child Development Pedagogy  – Kiran Prakashan Books T1011111124

Syllabus for Paper 2 which recruits upper primary school teachers are:

UPTET Syllabus – Previous Year paper Download

आप सभी students के सहूलियत को देखते हुए हमारी टीम ने decide किया है की अब से आप सबको बिना pdf download किये देखने का भी प्रबंध किया जाये, तो नीचे बने window में आपको हिंदी में UPTET Previous Paper को बिना download किये देखने को मिलेगा और उसके नीचे download pdf बटन भी दिया गया है जिसकी सहायता से आप बड़ी ही आसानी से हिंदी में UPTET Previous Paper को download भी कर सकते है|

UPTET Syllabus for Child Development and Pedagogy

Child Development and Pedagogy
Unit1 Child Development (Elementary School Child)
Unit 2 Concept of Inclusive education and understanding children with special needs
Unit 3 Learning and Pedagogy

UPTET Syllabus for Language 1

Language 1
Unit 1 Language Comprehension
Unit 2 Pedagogy of Language Development

UPTET Syllabus for Language 2

Language 2
Unit 1 Comprehension Pedagogy of Language Development

UPTET Syllabus for Maths

Maths
Unit 1 Pedagogical issues
Unit 2 Number System
Unit 3 Algebra
Unit 4 Geometry
Unit 5 Mensuration
Unit 6 Data Handling

UPTET Syllabus for Science

Science
Unit 1 Micro-Organism Living Being Human Body and Health Animal Reproduction and Adolescence
Unit 2 Force and Motion Heat Light and Sound
Unit 3 Science and Technology Solar System
Unit 4 Structure of Matter Chemical Substance
Unit 5 Nature & Structure of Science Natural Science Understanding the Science Method of Science Teaching
Unit 6 Innovation Text Material/Aids Evaluation Problems Remedial Teaching

UPTET Syllabus for Social Studies/ Social Science

Social Studies/Social Science
Unit 1 History: When, Where & How, The Earliest Societies, The First Farmers & Herders, The First Cities, Early States, New Ideas, The First Empire, Contacts with Distant lands,

Political Developments, Culture and Science, New Kings and Kingdoms, Sultans of Delhi, Architecture, Creation of an Empire,

Social Change, Regional Cultures, The Establishment of Company Power, Rural Life and Society, Colonialism and Tribal Societies,

The Revolt of 1857 – 58, Women and reform, Challenging the Caste System, The Nationalist Movement, India After Independence.

Unit 2 Geography: Geography as a social study & as a science, Planet: Earth in the solar system, Globe,

Environment in its totality: natural & human environment. Air, Water, Human Environment: settlement, transport and communication,

Resources: Types- Natural and Human, Agriculture.

Unit 3 Social & Political Science: Diversity, Government, Local Government, Making a Living, Democracy, State Government,

Understanding Media, Unpacking Gender, The Constitution, Parliamentary Government, Social Justice & the Marginalized

Unit 4 Pedagogical issues: Concept & Nature of Social Science/Social Studies,

Class Room Processes, activities and discourse,

Developing Critical thinking, Enquiry/Empirical Evidence,

Problems of teaching Social Science/Social Studies, Sources – Primary & secondary, Projects Work

Best Books for UPTET 2018- Paper 2

Some popular reference books for preparation of UPTET exam 2018 are given below

Book Author Publisher ISBN
UP-TET—Paper-II Upper Primary Level for Social Studies Teachers Guide RPH Editorial Board Ramesh Publishing House Books R-1483 / 978-93-5012-218-1 / 9789350122181
UP-TET—Paper-II Upper Primary Level for Social Studies Teachers Guide  – Ramesh Publishing House Books R-1482 / 978-93-5012-217-4 /9789350122174
UPTET (Paper – II) Class VI-VIII Social Studies – Hindi RP Singh Unique Publishers Books 31.20
UPTET (Paper – II) Class VI-VIII Science/Maths – Hindi RP Singh Unique Publishers Books 31.21
UP TET Teacher’s Eligibility Test Paper-I&II Child Development Pedagogy  – Kiran Prakashan Books T1011111124
UPTET Uttar Pradesh Teachers’ Eligibility Test Paper II Class 6-8 Maths and Science  – Arihant Books J315 / 9788183488648

UP TET Important Instructions

Instructions given below, as mentioned in the admit card, has to be followed by candidates strictly on the exam day:

  • Candidates need to reach the venue at least half an hour before the scheduled exam time
  • Candidates need to take UPTET 2018 Admit Card to the examination center, failing of which, they won’t be allowed to sit for the exam.
  • Candidates are also asked to carry with them a valid identity proof, like as aadhar card, pan card, driving license.
  • UPTET is a pen and paper exam. Candidates are needed to carry atleast 2 pens with them. Use comfortable pens.
  • No mobile phones, pagers, calculators, and other electronic gadgets are allowed inside the examination hall.
  • Manage time properly.
  • Read the question carefully and tick the answer which you think is right. The answer once ticked cannot be erased.
  • Attempt the critical questions after completing the easy ones.

UPTET Question Answer

Question No.1- प्रशन:के. मा. शि. बो.(CESE) द्वारा अपनाए गए प्रगतिशील शिक्षा के प्रतिमान में बच्चों का समाजीकरण जिस प्रकार से किया जाता है, उससे अपेक्षा की जा सकती है कि

1. वे समय नष्ट करने वाली सामाजिक आदतो/ प्रकृति का त्याग करे तथा सीखें कि किस प्रकार अच्छी श्रेणियॉ पाई जा सकती है;बवतम हववक हतंकमेद्ध
2. वे सामूहिक कार्य में सक्रिय भागीदारिता का निर्वाह करे तथा सामाजिक कौशल सीखें
3. वे बिना प्रश्न उठाए समाज के नियमो-विनियमों का अनुपालन करने के लिए तैयार हो सके
4. किसी भी प्रकार की सामाजिक पृष्ठभूमि होते हुए भी वे वह सब स्वीकार करे जो उन्हें विद्यालय द्वारा प्रदान किया जाता है
Correct Answer: 2

Question No.2-  प्रशन:एक बच्चा अपनी मातृभाषा सीख रहा है व दूसरा बच्चा वही भाषा द्वितीय भाषा
के रूप में सीख रहा है। दोनो निम्नलिखित में से कौन-सा समान प्रकार की त्रुटि कर सकते है?
1. अधिकाधिक सामान्यीकरण
2. सरलीकरण
3. विकासात्मक
4. अत्यधिक संशुद्वता
Correct Answer: 3

Question No.3- प्रशन:‘बहु-बुद्वि सिंद्वांत’ को वैध नही माना जा सकता क्योकि
1. विशिष्ट परीक्षणों के अभाव में भिन्न बुद्वियों (different intelligences) का मापन सम्भव नहीं है
2. यह सभी सात बुद्वियों को समान महत्व नही देता है
3. यह केवल अब्राहम मैस्लो के जीवन-भर के सुदृढ अनुभावात्मक अध्ययन पर आधारित है
4. यह सर्वाधिक महत्वपूर्ण सामान्य बुद्वि ‘g’ के अनुकूल(सुसंगत) नही है
Correct Answer: 1

Question No. 4- प्रशन:निम्नलिखित मे सें कौन-सा विकासात्मक विकार का उदाहरण नही है?
1. आत्मविमोह (Autism)
2. प्रमस्तिष्क घात ( Cerebral palsy)
3. पर-अभिघातक तनाव ( Post traumatic stress)
4. न्यून अवधान सक्रिय विकार(Atenstion deficit hyperactivity Disorder)
Correct Answer: 3

Question No. 5 निम्नलिखित में से कौन-सा प्रश्न अपने विशिष्ट क्षेत्र से ठीक तरह से मिला हुआ है?
1.  क्या आप अपने विद्याथियों को उनकी: मूल्यांकन गणित की उपलब्धि के पर वर्गीकृत कर सकते है?
2.  पिछली रात दूरदर्शन पर दिखाए गए : सृजनशील क्रिकेट मैच मे निर्णायक क्षण ; (tirimg point) कौन-सा था?
3.  जडी बूटियों के प्रयोग द्वारा चिकेप : अनुप्रयोग पकाने हेतु कोई नई पाकविधि लिखिए
4.  निर्धारित कीजिए कि दिए गए मापका : विश्लेषण में से कौन-सा मापक आपकोउत्तम परिणामों को पाने में सर्वाधिक प्रवृत्त कर सकता है?
Correct Answer: 4

Question No. 6- भाषा -अवबोधन से सम्बद्व विकार है

1. चलाघात (apraxiz)
2. पठन-वैकल्य(dyslexia)
3. वाक् -सम्बद्व रेग ( aspeechxiz)
4. भाषाघात (aphaisa)
Correct Answer: 4

Question No. 7- पूर्व-विद्यालय में पहली बार आया बच्चा मुक्त रूप से चिल्लाता हैै। दो वर्ष पश्चात् वही बच्चा जब प्रारम्भिक विद्यालय में पहली बार जाता है, तो अपना तनावचिल्लाकर व्यक्त नहीं करता अपितु उसके कन्धे व गर्दन की पेशियॉं तनजाती है।उसके इस व्यावहारिक परिवर्तन का क्या सैद्वान्तिक आधार हो सकता है?
1. विकास क्रमिक प्रकार से होता है
2. विकास निरन्तरीय होता रहता है
3. अलग-अलग लोगों में विकास भी भिन्न रूप से होता है
4. विभेद व एकीकरण विकास के लक्षण है
Correct Answer: 4

Question No. 8 निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सत्य है?
1. आनुवंशिक बनावट व्यक्ति की, परिवेश की गुणवत्ता के प्रति, प्रत्युत्तरात्मकता
को प्रभावित करती है
2. गोद लिए गए बच्चों का वहीं बुद्धि-लब्धांक (IQ) होता है, जो गोद लिए गएउनके संग भाई-बहनों का होता है
3. अनुभव मस्तिष्क के विकास को प्रभावित नही करता
4. विद्यालयीकरण का बुद्वि पर कोई प्रभाव नहीं पडता
Correct Answer: 1

Question No. 9 – एक शिक्षिका पाठ को पूर्वपठित पाठ से जोडते हुए बच्चों को सारांश लिखना सिखा रही है। वह क्या कर रही है?
1. वह बच्चों की पाठ समझने की स्वशैली विकसित करने में सहायता कर रही है
2. वह बच्चों को सम्पूर्ण पाठ्य-वस्तु को पूर्णरूप से न पढने की आवश्यकता कासंकेत दे रही है
3. वह आकलन के दृष्टिकोण से पाठ्य-वस्तु के महत्व को पुनर्बलित कर रही है
4. वह विद्यार्थियों को सामर्थ्यानुकुल स्मरण करने को प्रेरित कर रही है
Correct Answer: 1

Question No. 10 :निम्नलिखित में से कौन-सा तत्व कक्षा में अधिगम हेतु सहायक हो सकता है?
1. बच्चों को अधिगम हेतु प्रेरित करने के लिए परीक्षणों की संख्या को बढा देना
2. अध्यापकों द्वारा बच्चों की स्वायत्तता को बढावा व सहायता देना
3. समानता बनाए रखने के लिए किसी एक अनुदेशन पद्धति पर टिके रहना
4. कालांश की अवधि को 40 मिनट से 50 मिनट तक बढा देना
Correct Answer: 2

UPTET Question Answer UPTET 2018 Exam Pattern 

Question No. 11-इनमें से कौन-सा सिद्वान्तकार यह मत स्पष्ट करता है कि बच्चे अपनी वृद्धि व
विकास हेतु कठोर अध्ययन करते है?

1. बण्डूरा
2. मैस्लों
3. स्किनर
4. पियाजे
Correct Answer: 2

Question No.12-  विद्यालयों में समावेशन मुख्यतः केन्द्रित होता है
1. विशिष्ट श्रेणी वाले बच्चों के लिए सूक्ष्मातिसूक्ष्म प्रावधानों के निर्माण पर
2. केवल निर्योग्य छात्रों की आवश्यकताओ को पूर्ण करने पर
3. सम्पूर्ण कक्षा की कीमत पर निर्योग्य बच्चों की आवश्यकताओं को पूरा करना पर
4. विद्यालयों में निरक्षर अभिवावकों की शैक्षिक आवश्यकताओं पर
Correct Answer: 1

Question No.13-   14 वर्षीय देविका अपने -आप से पृथक स्वनियन्त्रित व्यक्ति की भावना को विकसित करने का प्रयास कर रही है। वह विकसित कर रही है
1. नियमों के प्रति घृणा
2. स्वायतता
3. किशोरावस्थात्मक अक्खडपन
4. परिपक्वता
Correct Answer: 2

Question No. 14- यदि एक विद्यार्थी विद्यालय में लगातार निम्नतर श्रेणी प्राप्त होती है, तो उसकेअभिभावक को उसकी सहायता हेतु परामर्श दिया जा सकता है कि
1. वह अध्यापको की घनिष्ठ संगति में कार्य करे
2. मोबाइल फोन, चलचित्र , कॉमिक्स , खेल हेतु अतिरिक्त काल पर रोक लगाएॅ
3. जो भली-भांति शिक्षा नही ले पाए उनकी जीवन-सम्बधी कठिनाइयों का वर्णन करे
4. घर पर उसको परिश्रमपूर्वक कार्य करने पर बल दे
Correct Answer: 1

Question No.15- एक विद्यार्थी उच्चस्तरीय सृजनशील रंगमंचीय कलाकार बनना चाहता है। उसके लिए निम्नलिखित में से कौन-सा उपाय सबसे कम प्रेरक होगा?
1. राज्यस्तरीय प्रतियोगिताओं को जीतने का प्रयास करना ताकि छात्रवृति पाई जा सके
2. अपने रंगमंचीय कलाकार साथियों के साथ समानुभूतिपूर्ण, स्नेही तथा सहयोगीसम्बंध विकसित करना
3. उन रंगमंचीय कौशलों के अधिक समय देना जिनसे वह प्रफुलित होता है
4. संसार के श्रेष्ठ रंगमंचीय कलाकारो की निष्पति से सम्बद्व साहित्य पढने के लिए
तथा उससे सीखने के प्रयास के लिए कहना
Correct Answer: 1

Question No.16 परीक्षा में तनाव -निष्पति को प्रभावित करता है। यह तथ्य निम्नलिखित में से किस प्रकार के सम्बधं को स्पष्ट करता है?
1. संज्ञान -भावना
2. तनाव -विलोपन
3. निष्पति- चिन्ता
4. संज्ञान – प्रतियोगिता
Correct Answer: 1

Question No. 17 -निम्नलिखित में से प्रतिभाशाली अधिगमकर्ताओं के लिए क्या समुचित है?
1. वे अन्यों को भी कुशल-प्रभावी बनाते है तथा सहयोगी अधिगम के लिए आवश्यक है
2. वें सदैव अन्यों का नेतृत्व करते है और कक्षा में अतिरिक्त उत्तरदायित्व ग्रहणकरते है
3. अपनी उच्चस्तरीय संवेदनात्मकता के कारण वे भी निम्न श्रेणी पा सकते है
4. बुनियादी तौर पर उनकी मस्तिष्कीय शक्ति के कारण ही उनका महत्व है
Correct Answer: 3

Question No. 18 – प्रगतिशील शिक्षा के सन्दर्भ में निम्नलिखित में सें कौन-सा कथन जॉन डीवी के
अनुसार समुचित है?

1. कक्षा में प्रजातन्त्र का कोई स्थान नही होना चाहिए
2. विद्यार्थियों को स्वंय ही सामाजिक समस्याओं को सुलझाने में सक्षम होना चाहिए
3. जिज्ञासा विद्यार्थियों के स्वभाव में अन्तर्निहित नही है अपितु इसका कर्षण/संवर्द्वन करना चाहिए
4. कक्षा में विद्यार्थियों का निरीक्षण करना चाहिए न कि सुनना चाहिए
Correct Answer: 2

Question No. 19 – एक शिक्षिका अपनी कक्षा से कहती है, ‘सभी प्रकार के प्रदतकार्यो(Aassignments)का निर्माण इस प्रकार किया गया है कि प्रत्येक विद्यार्थी अधिक प्रभावशाली ढंग से सीख सके, अतंः सभी विद्यार्थी बिना किसी अन्य की सहायता से अपना कार्य पूर्ण करे।’ वह कोह्लबर्ग के किस नैतिक विकास के चरण की ओर संकेत दे रही है?
1. औपचारिक चरण 4 – कानून और व्यवस्था
2. पर-औपचारिक चरण 5 – सामाजिक संविदा
3. पूर्व -औपचारिक चरण 1 – दण्ड परिवर्तन
4. पूर्व – औपचारिक चरण 2 – वैयक्तिकता और विनिमय
Correct Answer: 1

 

only4uptet UPTET Objective Question Answer

Question No. 20 – निम्नलिखित में से समस्या-समाधान को क्या बाधित नहीं करता ?
1. अन्तर्दृष्टि (Insight)
2. मानसिक प्रारूपता ( Mental sets)
3. मोर्चाबन्दी (Entrenchment)
4. निर्धारण ( Fixation)
Correct Answer: 1

Question No. 21-बच्चो में सीखी गई निस्सहायता का कारण है
1. इस व्यवहार को अर्जित कर लेना कि वे सफल नहीं हो सकते
2. कक्षा गतिविधियों के प्रति कठोर निर्णय
3. अपने अभिभावकों की अपेक्षाओं के साथ तालमेल न बना पाना
4. अध्ययन को गम्भीरतापूर्वक न लेने हेतु नैतिक निर्णय
Correct Answer: 1

Question No. 22- :निम्नलिखित में से कौन सा आलोचनात्मक दृष्टिकोण ‘बहु-बुद्वि सिद्वांत (theory of Multiple Intelligences) से सम्बद्व नही है?
1. यह शोधाधारित नही है
2. विभिन्न बुद्वियॉं भिन्न-भिन्न विद्यार्थियों के लिए विभिन्न पद्वतियों की मांग करती है
3. प्रगतिशील विद्यार्थी प्रायं एक क्षेत्र में ही अपनी विशिष्टता प्रदर्शित करते है
4. इसका कोई अनुभावात्मक आधार नही है
Correct Answer: 3

Question No. 23- विद्यालय -आधारित आकलन प्रारम्भ किया गया था ताकि
1. राष्ट्र में विद्यालयी शिक्षा संगठनों (Boards) की शक्ति का विकेन्द्रीकरण किया जा सके
2. सभी विद्यार्थियों के सम्पूर्ण विकास को निश्चित किया जा सके
3. विद्यार्थियों की उन्नति की बेहतर व्याख्या के लिए उनकी सभी गतिविधियों के
नियमित अभिलेखन हेतु अध्यापको को अभिप्रेरित किया जा सके
4. विद्यालय अपने क्षेत्रों में विद्यमान अन्य विभिन्न विद्यालयों की तुलना में प्रतियोगिता द्वारा अपनी विशिष्टता का प्रदर्शन करने हेतु अभिप्रेरित हो सके
Correct Answer: 2

Question No. 24- प्रशन:परिपक्व विद्यार्थी
1. इस बात से विश्वास करते है कि उनके अध्ययन में भावनाओं का कोई स्थान नहीहै
2. अपनी बौद्विकता के साथ अपने सभी प्रकार के द्वन्द्वों का शीघ्र समाधान कर लेतेहै
3. अपने अध्ययन में कभी-कभी भावनाओं की सहायता चाहते है
4. कठिन परिस्थितियों में भी अध्ययन से विचलित नही होते
Correct Answer: 3

Question No. 25- निम्नलिखित में से कौन-सा वाइगोत्स्की के सामाजिक-सांस्कृतिक सिद्वांत पर आधारित है?
1. संक्रिय अनुकूलन
2. पारस्परिक शिक्षण
3. संस्कृति निरपेक्ष संज्ञानात्मक विकास
4. अन्तर्दृष्टिपूर्ण अधिगम
Correct Answer: 2

Question No. 26- निम्नलिखित में से कौन-सी सर्वाधिक प्रभावकारी विधि हो सकती है, जोआपकी इस अपेक्षा को पूरी कर सके कि वंचित विद्यार्थी अपनी भागीदारिता द्वारासफल हे सके?
1. आप उनकी सफलता हेतु उनकी क्षमता मे विश्वास को अभिव्यक्त करे
2. पढाएं जाने वाले विषय में आप अपनी रूचि विकसित कर सके
3. अपने लक्ष्य को महसूस करने के लिए बच्चों की अन्य बच्चों से प्रायः तुलना क्रते रहना
4. इस बात पर बल देना कि आपकी उनसे उच्च अपेक्षाएॅं है।
Correct Answer: 1

Question No. 27- एक अध्यापक उस बच्चें के साथ परामर्श करते है जिसकी निष्पत्यात्मक प्रगति एक दुर्घटना के पश्चात् अनुकूल नही है। निम्नलिखित मेंसे कौन-सी प्रक्रिया विद्यालय में परामर्श के लिए सबसे बेहतर हो सकती है?
1. वह अपने विचारों द्वारा खोज करने हेतु लोगों में आत्मविश्वास का निर्माण करता है
2. वह अपने विचारों द्वारा खोज करने हेतु लोगों में आत्मविश्वास का निर्माण करता है
3. विद्यार्थियों को भविष्य के विकल्पों के चुनने हेतु यह एक अच्छा सम्भावित परामर्श है
4. इस कार्य को केवल अनुभवी कुशल व्यावसायिक विशेषज्ञ से कराया जा सकता है
Correct Answer: 2

Question No. 28- कक्षा में विद्यार्थियो के वैयक्तिक विभेद है
1. लाभकारी नही है, क्योकि अध्यापकों के वैविध्यपूर्ण कक्षा को नियन्त्रित करने की आवश्यकता है
2. हानिकारक है क्योकि इनमे विद्यार्थियों मे परस्पर द्वन्द्व उत्पन्न होते है
3. अनुपयुक्त है, क्योंकि ये सर्वाधिक मन्द विद्यार्थी के स्तर तक पाठ्यचर्या के स्थानान्तरण की गति को कम करते है
4. लाभकारी है क्योंकि ये विद्यार्थियों की संज्ञानात्मक संरचनाओं को खोजने में
अध्यापकों को प्रवृत्त करते है
Correct Answer: 4

Question No. 29- निम्नलिखित मेंसे कौन-सा एक अन्य विकल्पों से सम्बद्व नही है
1. प्रश्नोत्तर सत्रों को संगठित करना
2. किसी विषय पर विद्यार्थियों की प्रतिक्रिया को लेना
3. प्रश्नोत्तरी ;फनप्रद्ध परिचालित करना
4. स्व- आकलन के कौशल को प्रतिमानित करना
Correct Answer: 4

Question No. 30-बहुशिक्षण-शास्त्रीय तकनीकें , वर्गीकृत अधिगम सामग्री, बहु -आकलन तकनीके तथा परिवर्तनीय जटिलता एंव सामग्री का स्वरूप निम्नलिखित में से किससे सम्बद्व है?
1. सार्वभौमिक अधिगम प्रारूप
2. उपचारात्मक शिक्षण
3. विभेदित अनुदेशन
4. पारस्परिक शिक्षण
Correct Answer: 3

Latest UPTET Mock Test Paper

Question No. 31- भाषा सीखने का व्यवहारवादी दृष्टिकोण……….पर बल देता है।
1. अनुकरण
2. रचनात्मकता
3. भाषा-प्रयोग
4. अभिव्यक्ति
Correct Answer: 1

Question No. 32- निर्देश प्रं सं : निम्नलिखित गद्यांश को पढकर सबसे उचित विकल्प काचयन
कीजिए।

शिक्षा की बैंकीय अवधारणा ( बैंकिंग कॉनसेप्ट) में ज्ञान एक उपहार होता है, जो स्वंय को ज्ञानवान समझने वालो ंके द्वारा उनको दिया जाता है, जिन्हें वेनितान्त अज्ञानी मानते है। दूसरों को परम अज्ञानी बताना उत्पीडन की विचारधारा की
विशेषता है। वह शिक्षा औरज्ञान को जिज्ञासा की प्रक्रिया नही मानती। शिक्षक अपने छात्रों के समक्ष स्वंयक को एक आवश्यक विलोम के रूप में प्रस्तुत करता है,

उन्हें परम अज्ञानी मानकर वह अपने अस्तित्व का औचित्य सिद्व करता है। छात्र,
हेगेलीय द्वन्द्ववाद में वर्णित दासों की भांति, अलगाव के शिकार होने के कारण अपनेअज्ञान को शिक्षक के अस्तित्व के औचित्य सिद्व करने वाला समझते है-लेकिन इसफर्क के साथ की दास तो अपनी वास्तविकता हो जान लेता है ;कि मालिक का अस्तित्व उसके अस्तित्व पर निर्भर हैद्ध लेकिन ये छात्र अपनी इस वास्तविकता को कभी नही जान पाते कि वें भी शिक्षक को शिक्षित करते है।
Question:
प्रशन:गद्यांश के अनुसार छात्र अपनी किस वास्तविकता को नहीं जान पाते ?

1. शिक्षक ज्ञानवान है
2. शिक्षा में ज्ञान ही सर्वोपरि है
3. शिक्षक पूर्णत : शिक्षित नही है
4. वें अज्ञानी है
Correct Answer: 3

Question No. 33  प्रशन:लिखना
1. एक बेहद जटिल प्रक्रिया है
2. एक अनिवार्य कुशलता है, जिसे जल्दी प्राप्त किया जाना है
3. एक तरह की बातचीत है
4. एक अत्यन्त यांन्त्रिक प्रक्रिया है
Correct Answer: 3

Question No. 34- भाषा-कौशलो के सम्बन्ध में कौन-सा कथन सही है?
1. भाषा के कौशल अन्तः सम्बन्धित होते है
2. भाषा के सभी कौशलों को नये सिरे से सिखाने की आवश्यकता होती है।
3. भाषा-कौशल एक -दूसरे से स्वंतत्र होते है
4. भाषा के चारों कौशल एक क्रम से सीखे जाते है
Correct Answer: 1

Question No. 35- Passage:
निर्देश प्रं सं : निम्नलिखित गद्यांश को पढकर सबसे उचित विकल्प काचयन
कीजिए।

शिक्षा की बैंकीय अवधारणा ( बैंकिंग कॉनसेप्ट) में ज्ञान एक उपहार होता है, जो स्वंय को ज्ञानवान समझने वालो ंके द्वारा उनको दिया जाता है, जिन्हें वे नितान्त अज्ञानी मानते है। दूसरों को परम अज्ञानी बताना उत्पीडन की विचारधारा की विशेषता है। वह शिक्षा औरज्ञान को जिज्ञासा की प्रक्रिया नही मानती। शिक्षक अपने छात्रों के समक्ष स्वंयक को एक आवश्यक विलोम के रूप में प्रस्तुत करता है,उन्हें परम अज्ञानी मानकर वह अपने अस्तित्व का औचित्य सिद्व करता है। छात्र,हेगेलीय द्वन्द्ववाद में वर्णित दासों की भांति, अलगाव के शिकार होने के कारण अपनेअज्ञान को शिक्षक के अस्तित्व के औचित्य सिद्व करने वाला समझते है-लेकिन इसफर्क के साथ की दास तो अपनी वास्तविकता हो जान लेता है ;कि मालिक का अस्तित्व उसके अस्तित्व पर निर्भर हैद्ध लेकिन ये छात्र अपनी इस वास्तविकता को कभी नही जान पाते कि वें भी शिक्षक को शिक्षित करते है।
Question:
प्रशन:इस गद्यांश के अनुसार शिक्षा की प्रक्रिया सम्पन्न होने के लिए अनिवार्य शर्त है

1. शिक्षक की उपस्थिति
2. शिक्षक का परम ज्ञानवान होना
3. छात्र का परम अज्ञानी होना
4. छात्रों का सीखने के लिए उत्सुक होना
Correct Answer: 1

Question No. 36- प्रशन:वाइगोत्स्की के विचारो पर आधरित कक्षा में …………..पर सबसे अधिक बल दिया जाता है।
1. कविता दोहराने
2. कहानी सुनने
3. कार्य पत्रको (Worksheets)
4. परस्पर अन्तःक्रिया
Correct Answer: 4

Question No. 37- हमारी कक्षाओं में बच्चें भिन्न-भिन्न भाषिक पृष्ठभूमि से आते है अतः
1. उनकी भाषाओं को भी कक्षा में सम्मान देना अनिवार्य है
2. उनकी भाषाओं के सीखना सभी शिक्षार्थियों के लिए अनिवार्य है
3. भाषा की पाठ्य-पुस्तक में उनकी सभी भाषाओं के शब्द, वाक्य होना अनिवार्य है
4. उनकी सभी भाषाओं की जानकारी शिक्षक के लिए अनिवार्य है
Correct Answer: 1

Question No. 38- Passage:
निर्देश प्रं सं : निम्नलिखित गद्यांश को पढकर सबसे उचित विकल्प काचयन कीजिए।

शिक्षा की बैंकीय अवधारणा ( बैंकिंग कॉनसेप्ट) में ज्ञान एक उपहार होता है, जो स्वंय को ज्ञानवान समझने वालो ंके द्वारा उनको दिया जाता है, जिन्हें वे नितान्त अज्ञानी मानते है। दूसरों को परम अज्ञानी बताना उत्पीडन की विचारधारा की विशेषता है। वह शिक्षा औरज्ञान को जिज्ञासा की प्रक्रिया नही मानती। शिक्षक अपने छात्रों के समक्ष स्वंयक को एक आवश्यक विलोम के रूप में प्रस्तुत करता है,उन्हें परम अज्ञानी मानकर वह अपने अस्तित्व का औचित्य सिद्व करता है। छात्र,हेगेलीय द्वन्द्ववाद में वर्णित दासों की भांति, अलगाव के शिकार होने के कारण अपनेअज्ञान को शिक्षक के अस्तित्वकेऔचित्य सिद्व करने वाला समझते है-लेकिन इसफर्क के साथ की दास तो अपनी वास्तविकता हो जान लेता है ;कि मालिक का अस्तित्व उसके अस्तित्व पर निर्भर हैद्ध लेकिन ये छात्र अपनी इस वास्तविकता को कभी नही जान पाते कि वें भी शिक्षक को शिक्षित करते है।
Question:
प्रशन:गद्यांश के अनुसार उत्पीडन की विचारधारा की विशेषता क्या है?
1. शिक्षा ज्ञान का उपहार है
2. शिक्षक ‘श्रेष्ठ ’ है छात्र ‘हीन’ है
3. आदर्श शिक्षक सदैव उत्पीडक होता है
4. परम अज्ञानियों का शोषण अनिवार्य है
Correct Answer: 2

Question No. 39- नासिरा पढते समय अनेक बार अटकती है। उसे पढने में कठिनाई होती है।उसकी समस्या मुख्यतः ……….से सम्बन्धित है।
1. पठन-अरूचि
2. बुद्वि-लब्धि
3. डिस्लेक्सिया
4. डिस्ग्राफिया
Correct Answer: 3

Question No. 40- Passage:
निर्देश प्रं सं : नीचे दिए गई पक्तियों के पढकर सबसे उचित विकल्पज्ञातकीजिए।

नही झुका करते जो दुनिया से
करने को समझौता
उॅंचे-से-उॅंचे सपनों को
देते रहते जो न्योता,
दूर देखती जिनकी पैनी
ऑंख भविष्यत् का तम चीर,
मैं हॅूं उनके साथ खडी
जों सीधी रखते अपनी रीढ।
Question:
प्रशन:सीधी रीढ’ का आशय है

1. आत्मनिर्भर होना
2. सीधी बात कहना
3. स्वाभिमानी और स्वावलम्बी होना
4. अभिमानी हेना
Correct Answer: 3

 Question Answer UPTET 2019

Question No. 41- Passage:
निर्देश प्रं सं : निम्नलिखित गद्यांश को पढकर सबसे उचित विकल्प काचयन कीजिए।

शिक्षा की बैंकीय अवधारणा ( बैंकिंग कॉनसेप्ट) में ज्ञान एक उपहार होता है, जो स्वंय को ज्ञानवान समझने वालो के द्वारा उनको दिया जाता है, जिन्हें वे नितान्त अज्ञानी मानते है। दूसरों को परम अज्ञानी बताना उत्पीडन की विचारधारा की विशेषता है। वह शिक्षा औरज्ञान को जिज्ञासा की प्रक्रिया नही मानती। शिक्षक अपने छात्रों के समक्ष स्वंयक को एक आवश्यक विलोम के रूप में प्रस्तुत करता है,उन्हें परम अज्ञानी मानकर वह अपने अस्तित्व का औचित्य सिद्व करता है। छात्र,हेगेलीय द्वन्द्ववाद में वर्णित दासों की भांति, अलगाव के शिकार होने के कारण अपनेअज्ञान को शिक्षक के अस्तित्व के औचित्य सिद्व करने वाला समझते है-लेकिन इसफर्क के साथ की दास तो अपनी वास्तविकता हो जान लेता है ;कि मालिक का अस्तित्व उसके अस्तित्व पर निर्भर हैद्ध लेकिन ये छात्र अपनीवास्तविकता को कभी नही जान पाते कि वें भी शिक्षक को शिक्षित करते है।

Question: प्रशन:शिक्षा की बैकींय अवधारणा शिक्षा के किस रूप में प्रस्तुत करती है?
1. शिक्षा की प्रक्रिया में केवल परम अज्ञानी शामिल होते है
2. शिक्षा ज्ञान के लेन-देन की प्रक्रिया है
3. शिक्षा में केवल छात्र शिक्षको को शिक्षित करते है
4. शिक्षा में उपहारो का लेन-देन होता है
Correct Answer: 2

Question No. 42- :कक्षा ‘एक’ के बच्चें अपने………..एंव …………….से प्राप्त बोलचाल की भाषा के
अनुभवों को लेकर ही विद्यालय आते है।

1. घर-परिवार, पडोसी
2. घर-परिवार, परिवेश
3. घर-परिवार,दोस्तों
4. घर-परिवार, टी.वी.
Correct Answer: 2

Question No. 43- Passage:
निर्देश प्रं सं : नीचे दिए गई पक्तियों के पढकर सबसे उचित विकल्पज्ञातकीजिए।

नही झुका करते जो दुनिया से
करने को समझौता
उॅंचे-से-उॅंचे सपनों को
देते रहते जो न्योता,
दूर देखती जिनकी पैनी
ऑंख भविष्यत् का तम चीर,
मैं हॅूं उनके साथ खडी
जों सीधी रखते अपनी रीढ।
Question: प्रशन:व्यक्ति की दृष्टि कैसी होनी चाहिए?
1. अन्धकार को चीरने वाली
2. दूर की चींजो को साफ-साफ देखने वाली
3. दूरदर्शिता से लैस
4. भविष्य का अन्धेरा दूर करने वाली
Correct Answer: 3

Question No. 44- Passage:
निर्देश प्रं सं : निम्नलिखित गद्यांश को पढकर सबसे उचित विकल्प काचयन कीजिए।

शिक्षा की बैंकीय अवधारणा ( बैंकिंग कॉनसेप्ट) में ज्ञान एक उपहार होता है, जो स्वंय को ज्ञानवान समझने वालो ंके द्वारा उनको दिया जाता है, जिन्हें वे नितान्त अज्ञानी मानते है। दूसरों को परम अज्ञानी बताना उत्पीडन की विचारधारा की विशेषता है। वह शिक्षा औरज्ञान को जिज्ञासा की प्रक्रिया नही मानती। शिक्षक अपने छात्रों के समक्ष स्वंयक को एक आवश्यक विलोम के रूप में प्रस्तुत करता
है,उन्हें परम अज्ञानी मानकर वह अपने अस्तित्व का औचित्य सिद्व करता है। छात्र,हेगेलीय द्वन्द्ववाद में वर्णित दासों की भांति, अलगाव के शिकार होने के कारण अपनेअज्ञान को शिक्षक के अस्तित्व के औचित्य सिद्व करने वाला समझते है-लेकिन इसफर्क के साथ की दास तो अपनी वास्तविकता हो जान लेता है ;कि मालिक का अस्तित्व उसके अस्तित्व पर निर्भर हैद्ध लेकिन ये छात्र अपनी इस वास्तविकता को कभी नही जान पाते कि वें भी शिक्षक को शिक्षित करते है।
Question: प्रशन:गंद्यांश में ……………..पर करारा व्यंग्य किया गया है।
1. ज्ञानवान व्यक्तियों
2. उत्पीडितो की दशा
3. शिक्षितें की दशा
4. शिक्षक और छात्र के मध्य सम्बन्ध
Correct Answer: 3

Question No. 45- कौन-सा प्रश्न बच्चों की भाषा-क्षमता का सही आकलन करेगा?
1. लडकी ने किसके दाम नहीं बताए?
2. लडकी टोकरी में क्या बेच रही थी?
3. यदि तुम आम बेचोगे ते उसके कितने दाम लोगे और क्यों?
4. आजकल आम का दाम कितना है?
Correct Answer: 3

Question No. 46- Passage:
निर्देश प्रं सं : निम्नलिखित गद्यांश को पढकर सबसे उचित विकल्प काचयन कीजिए।
शिक्षा की बैंकीय अवधारणा ( बैंकिंग कॉनसेप्ट) में ज्ञान एक उपहार होता है, जो स्वंय को ज्ञानवान समझने वालो ंके द्वारा उनको दिया जाता है, जिन्हें वे नितान्त अज्ञानी मानते है। दूसरों को परम अज्ञानी बताना उत्पीडन की विचारधारा की विशेषता है। वह शिक्षा औरज्ञान को जिज्ञासा की प्रक्रिया नही मानती। शिक्षक अपने छात्रों के समक्ष स्वंयक को एक आवश्यक विलोम के रूप में प्रस्तुत करता है,उन्हें परम अज्ञानी मानकर वह अपने अस्तित्व का औचित्य सिद्व करता है। छात्र,हेगेलीय द्वन्द्ववाद में वर्णित दासों की भांति, अलगाव के शिकार होने के कारण अपनेअज्ञान को शिक्षक के अस्तित्व के औचित्य सिद्व करने वाला समझते है-लेकिन इसफर्क के साथ की दास तो अपनी वास्तविकता हो जान लेता है ;कि मालिक का अस्तित्व उसके अस्तित्व पर निर्भर हैद्ध लेकिन ये छात्र अपनी इस वास्तविकता को कभी नही जान पाते कि वें भी शिक्षक को शिक्षित करते है।
Question: प्रशन:.. ‘……………..उन्हें परम अज्ञानी मानकर वह अपने अस्तित्व का औचित्य सिद्व करता है।’ रेखांकित शब्द की जगह किस शब्द का प्रयोग किया जा सकता है?
1. प्रमाणित
2. प्रतिफलित
3. अन्तनिर्हित
4. प्रतिस्थापना
Correct Answer: 1

Question No. 47-  कहानी, कविता, गीतों और नाटकों के माध्यम से बच्चें
1. केवल मूल्यों का अर्जन करते है
2. केवल अपनी तर्कशक्ति का विकास करते है
3. अपनी सांस्कृतिक धरोहर से जडते है
4. केवल मनोंरजन प्राप्त करते है
Correct Answer: 3

Question No. 48- Passage:
निर्देश प्रं सं : नीचे दिए गई पक्तियों के पढकर सबसे उचित विकल्पज्ञातकीजिए।

नही झुका करते जो दुनिया से
करने को समझौता
उॅंचे-से-उॅंचे सपनों को
देते रहते जो न्योता,
दूर देखती जिनकी पैनी
ऑंख भविष्यत् का तम चीर,
मैं हॅूं उनके साथ खडी
जों सीधी रखते अपनी रीढ।
Question:प्रशन: उॅंचे-से -उॅंचे सपनों को निमन्त्रण देने का भाव है
1. उॅंचे सपनों को आमन्त्रित करना
2. उच्च कोटि के स्वप्न देखना और उन्हें साकार करने का प्रयास करना
3. स्वप्नशील रहना
4. सपनों को आमन्त्रित करना
Correct Answer: 2

Question No. 49- Passage:
निर्देश प्रं सं : निम्नलिखित गद्यांश को पढकर सबसे उचित विकल्प काचयन कीजिए।

शिक्षा की बैंकीय अवधारणा ( बैंकिंग कॉनसेप्ट) में ज्ञान एक उपहार होता है, जो स्वंय को ज्ञानवान समझने वालो ंके द्वारा उनको दिया जाता है, जिन्हें वे नितान्त अज्ञानी मानते है। दूसरों को परम अज्ञानी बताना उत्पीडन की विचारधारा की विशेषता है। वह शिक्षा औरज्ञान को जिज्ञासा की प्रक्रिया नही मानती। शिक्षक अपने छात्रों के समक्ष स्वंयक को एक आवश्यक विलोम के रूप में प्रस्तुत करता है,उन्हें परम अज्ञानी मानकर वह अपने अस्तित्व का औचित्य सिद्व करता है। छात्र,हेगेलीय द्वन्द्ववाद में वर्णित दासों की भांति, अलगाव के शिकार होने के कारण अपनेअज्ञान को शिक्षक के अस्तित्व के औचित्य सिद्व करने वाला समझते है-लेकिन इसफर्क के साथ की दास तो अपनी वास्तविकता हो जान लेता है ;कि मालिक का अस्तित्व उसके अस्तित्व पर निर्भर हैद्ध लेकिन ये छात्र अपनी इस वास्तविकता को कभी नही जान पाते कि वें भी शिक्षक को शिक्षित करते है।
Question: प्रशन:प्रस्तुत गंद्यांश में ‘नितान्त’ शब्द का अर्थ है
1. केवल
2. एकान्त
3. बहुत
4. बिल्कुल
Correct Answer: 4

Question No. 50- प्रशन:हमारी कक्षाओं में बच्चें भिन्न-भिन्न भाषिक पृष्ठभूमि से आते है अतः
1. उनकी भाषाओं को भी कक्षा में सम्मान देना अनिवार्य है
2. उनकी भाषाओं के सीखना सभी शिक्षार्थियों के लिए अनिवार्य है
3. भाषा की पाठ्य-पुस्तक में उनकी सभी भाषाओं के शब्द, वाक्य होना अनिवार्य है
4. उनकी सभी भाषाओं की जानकारी शिक्षक के लिए अनिवार्य है
Correct Answer: 2

Download UPTET Previous Year Solved Paper- Click Here

 आप सभी को यही पोस्ट “UPTET 2018 Exam Pattern UPTET Question Answer” कैसा लगा यदि आपको अच्छा लगा और आप इसी तरह के पर प्रश्न चाहते है | और किसी exam के पेपर | तो  आप हमें निचे दिए  COMMENT  में बता सकते है |

क्या आप student है | और प्रतियोगी परीछा की तैयारी कर रहे है | तो दोस्तों आप SARKARIPDF.COM आपको सभी प्रकार के पीडीऍफ़ स्टडी बुक | क्वेश्चन प्राप्त हो जयेगे |

जरुर पढ़ें :- दोस्तों अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल है या ebook की आपको आवश्यकता है तो आप निचे comment कर सकते है. आपको किसी परीक्षा की जानकारी चाहिए या किसी भी प्रकार का हेल्प चाहिए तो आप comment कर सकते है. हमारा post अगर आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे. आप हमसे Facebook group से   भी जुड़ सकते है Daily updates के लिए.

Disclaimer : SARKARIPDF.COM does not claim this book, neither made nor examined. We simply giving the connection effectively accessible on web. In the event that any way it abuses the law or has any issues then sympathetically mail us.

 

About the author

admin

Leave a Comment